तू चलता चल

Life isn’t easy. It will push you down, spit on your face and you still need to keep going. It’s easy to give up, it’s tough to keep fighting and win. One who has the spirit to do so is the true winner.

Here is my take on the same through an article.
IMG_20141125_181941

आग  का दरिया है और डूब के जाना है। राही का अगर कुछ काम है तो वो  है बस  चलते जाना.पथ पर फूल ही नहीं काटें भी मिलेंगे। जब उन काटो पर पैर रखकर हम मंज़िल  को पा  लेंगे तब उस मंज़िल की कीमत सही मायनो मैं समझ पाएंगे। अगर इस राह पर बीते हर दिन की याद साथ लेकर चलेंगे, हर दिन से कुछ न से कुछ सीखते चलेंगे,तो यक़ीनन बेहतर बनते चलेंगे। कभी सूरज की रौशनी  की तरह तो कभी रात के अँधेरे की तरह, गम और खुशियां, दोनों ही हमारे दरवाज़े पर दस्तक देंगी.

लेकिन हर रात के बाद होते  सवेरे की तरह,गम के बाद खुशियां भी आएंगी और अगर आज कोई बाज़ी हारे है तो कल यक़ीनन कोई और बाज़ी जीत जाएंगे। बस हारकर बैठना नहीं है, चलते जाना है।

हर किसी को साथ चलने के लिए हमसफ़र नही मिलता।
जब तक सुख है, तब तक सब  हैं। हर किसी को दुःख में साथ देने वाला जानशीन नही मिलता। चलना है और अकेले ही चलना है।

एक  न एक दिन तो सबको सदा सदा के लिये  सोना है
फिर क्यों न इस छोटी सी ज़िन्दगी में कुछ ऐसा कर गुज़रे  की ये दुनिया सदा सदा के लिये हमें याद रखे।
“एक बार मिलेगा ये तोफा, जा जी भरके तू जी ले !
इस दुनिया की मत सुन,वो कर जो तेरा दिल कहे।
कुछ ऐसा कर जा, जब जाये इस दुनिया से
हर अख में आसू हो , हर दिल मैं मरके भी तू जिए “

Advertisements

Author: Paranjaya

What I have failed to speak, I have succeeded to write! - Paranjaya Mehra

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s